//पापी लोक की घटनायें//

//पापी लोक की घटनायें//

वास्‍तविक रूप मे जीवन का घटना चकृ अलग-अलग स्‍वरूपों मे चलता आ रहा है घटनाये बनती है और समाप्‍त भी हो जाती है विघमान घटनाये नवीन घटनाओं का आह़वान करती है यही तो होता है संसार अर्थात पापी लोक मे, जिसे किसी ग्रंथ मे मृत्‍यु लोक की संज्ञा दी गई है। यह पहले से संज्ञान मे आता है, पापी लोक का मतलब जिस स्‍थान पर क्षण-क्षण मे पाप की बारिश रूपी घटनाये कारित होती है यह पाप मानव, के साथ-साथ उस मृत्‍यु लोक मे निवास करने वाले प्रत्‍येक जीव के द्वारा किया जाता है जग जाहिर है।

Advertisements

 ** मेरी सोच **

• केवल मुझे वह रास्ता चाहिए जिस पर चलकर इंसान के अलावा केवल आत्मा जाती है। • मै केवल उसी की लालसा लगाये कार्यरत हॅू जो मुझे बिल्कुल प्रयोग नही करना चाहते/चाहती *** • विघमान परिस्थितियो का सामना करना मेरा कर्तव्य है और बाकियों को तो मैं नही जानता। • चोर बहुत शातिर होते है चोरी करने की तरकीब चुराते है मैं तो केवल अपनों के सोच ही चुराता हॅू । • चांदनी और चांद के कितने कथन विघमान है दिमांग और किताबों मे छपे है,  शायरो के मस्तिष्क मे मेरी संपत्ति तो वही है सदा-सदा के लिए। *** • मानते क्यू  नही मेरी बात —- मैं गलत तो नही हॉ हो गलत तो जवाब कह देना मुझे स्वीकार है। • केवल आपके कथन के अनुसार * दुनिया बहुत बड़ी है, कही भी कोशिश करो सफलता मिल ही जायेगी। • मेरा कथन है कि 100 बार एक ही प्रश्न हल करूंगा चाहे वह हर बार सही हो पर #परीक्षक  गलत करते हो तो मैं क्या करूं । • तकलीफ मुझे भी है उसे भी है पर प्यार मुझे भी है उसका पता नही । WIN_20170326_11_06_52_Pro.jpg

call का महत्‍व

27/02/2017 समय 8:32 सायंकाल

** फोन या काल को सोच कर उठाना या फिर लगाना इसके महत्‍व/समझ**

क्‍या किसी के फोन कॉल को रिसीव करना पाप या धमण्‍ड है। ऐसा तो नही कि मोबाईल रखना मेरे लिए केवल पाप ही है, हॉ अगर पाप है तो मेरा नम्‍बर कभी पिक अप मत करना। हॉ आपकी सोच मुझसे कही बेहतर है या किसी गलत कार्य के लिए आपको बुलाया जा रहा या मैं खुद ही गलत हू ऐसा मेरा मानना है पर किसी ऐसे व्‍यक्ति से मैं संपर्क कर रहा हू  जिसके पास अगर साधारण या पुराना या बिल्‍कुल भी नही काम करने योग्‍य सेल फोन है तो  भी  वह व्‍यक्ति कॉल  पिक आप क्‍यू नही करते ये मै अवश्‍य कहना चाहूंगा उस की तरह  नही कि किसी अनजान नम्‍बर  से आपके पास सम्‍पर्क हो रहा है वे सब आपको जानते है और यह तक दुर्व्‍यवहार करने की जिज्ञासा तो दूर कभी अपशब्‍दो को उपयोग भी नही करते अगर आप उन  बेकार युवक को जान  रहे हो  ओर वह आपको लगातार  गाली गलौचा या परेशान कर रहे हो तो मत उठाईये फोन पर हम तो आपको know  करते है  बिना किसी  कार्य या तो बिना  मतलब  के काल करे तो कहो सत्‍य  मेरा  लक्ष्‍य ही नहीं  but  अगर पागल पन मे आ जाये तो उसकी कोई नही पर  यार  कॉल  तो पिक  अप  कीजिए  यह कथन  दोनो ओर  प्रसारित  होता है पर सज्‍जन  ये बात कहा समझने वाले  है उनको  किसी दूसरी परी का तो फोन  आ नही रहा पर भी बात क्‍या है यह तो समझ ले ?

To be cont…