एकाग्रता

कार्य करने की एकाग्रता उसकी सूक्षमता को प्रदर्शित करते है किसी कार्य को लगनशीलता से करने पर उस कार्य की खूबसूरती अत्‍यधिक बढ जाती है कार्य की रूचि बढने लगती है कार्य सरल हो जात है विभिन्‍न स्‍वरूपो को अपने अन्‍दर अवशोशित कर नये-नये  रंगो तथ्‍यो मे विभाजित हो जाता है, कोई व्‍य‍िक्‍त किसी कार्य मे अपनी रूची दिखाता हे तो कोई किसी अनय कार्य मे सामान्‍यत: समाज दर्शित करता है कि किसान खेती बिचौलियों विक्रय ओर नेता राजनीति ओर भी विभिन्‍न कार्य कलाप मनुष्‍य द्वारा किये जाते है सोचने के बात य है कि इन्‍हे अपने अपने काम मे निपुणता कौन  प्रदान करता है  क्‍या ये उनका पैतृक कार्य होता है या किसी लक्ष्‍य को हासिल करने के कार्य किया जाता है कहने कही बात यह है कि प्रत्‍येक लगनशील मानव को जो कार्य करने के आगे बढता है तथा उस कार्य को पूर्ण करता है वह वास्तिवकता को उजागर करता है ।

कार्य करना ओर लक्ष्‍य पाना मनुष्‍य को रोजमर्रा का कार्य है यही नही प्रतिदिन कार्य करने की एकाग्रता बढने जा रही है मानव अब यंत्री, मशीन का उपयोग भी कार्य करने के लिए करता है।

चींटी

*** मेरी प्‍यारी सी चींटी ***
एक चींटी धीरे-धीरे अपने खाने की आवश्‍यक सामाग्री जुटा रही है, इतनी छोटी सी है वो मगर उसका दिमांग इंसानों से भी बडा है इसलिए चींटी मनुष्‍य से ज्‍यादा दिमाग वाली है और हॉ बजन भी अपने से तीन चार गुना उठाकर ले जाती है और दिन भर की मेहनत करके चींटी अपने छोटे से घर मे खाना इक‍टटा कर रही है। पर हम इंसान होेते हुए भी यह समझ ही नही पा रहे है कि बिना मेहनत के कोई भी वस्‍तु प्राप्‍त नही कि जा सकती…………….*umee*

साईबर लॉ

इंटरनेट ओर ई-कामर्स के बढते कदम बाजार को देखते हुए मै साईबर लॉ मे स्‍पेशलाईजेशन करने मे इच्‍छुक हॅू भारत मे इसका स्‍कोप है –

इंटरनेट ने सभी सीमाओं को तोडकर पूरी दुनिया के कटप्‍यूटर   नेटवर्क को जोडा है यह आई टी से संबंधित व्‍यक्ति को बहुत अच्‍छा लगता है लेकिन एक वकील होने के रूप मे बहुत ही झंझट भरा होता  है पहले कानूनी पेच थे कि यह विशेष ट्रांजेक्‍शन कहा से हुआ व किस देश से हुआ है अत ये सब कुछ भयावह  हो गया है अत डोमेननेम, कॉपीराइटर ओर पेमेन्‍ट जैसे इंटरनेट प्रापर्टी साइबर कानून एक तरह सूचना हाईवे के लिए ट्राफिक नियम है जो सिविल और क्रिमिनल कानून द्वारा निर्धारित होते है दुनिया के करीब 51 देशाे ने एक कानूनी संघी ; हैग कंवेशन ऑन ज्‍यूरीडिक्‍शन एंंड फौरेन जजमेन्‍ट बनाई है ताकी सीमा के आर-पार हुए झगडो को शांति पूर्ण  सुलझाया जा सके भारत एशिया का दूसरा और दुनिया का बारहवा  ऐसा है जिसमे एक अलग  इंफॉमेशन एक्‍ट बना है जैसे जैसे इंटरनेट द्वारा व्‍यापार बढ रहा है बैसे बैसे झगडे भी बढ रहे है इसलिए इंटलेक्‍चुअल प्रापर्टी राइटर्स जिसमे पेटेंट ट्रेडमेनी कॉपीराइट और डिजाईन भी शामिल हेै कि जरूरत पडेगी आप किसी बडी लॉ फर्म मे जुनियर प्रेक्टिशनर या असिस्‍टेंट के रूप मे कार्य कर सकते है या फिर बडी लॉ  फर्म के किसी शोध मे सहायक बन कर अपना भविष्‍य उज्‍ज्‍वल कर सकते है साईबर लॉ मे वर्तमान मे अपराध अनगिनत बढते जा रहे है बहुत से लोगो इसकी गिरफत मे किसी ओर कुछ एक प्रतिशत यूजर यह जानते है कि यह किसी न किसी तरह अपराध कारित हो रहा है फिर भी हैकिंग करते है यहा –अपराधी भ्‍ाी अनंत है ओर अपराध भी ।–

***-एक अपराधी की तरह  -***

**umee**

 

 

** उमरेठ मे है एक गुप्‍त द्वार **

आज दिनांक 26-12-2016 के दिन मै ओर मेरे दो दोस्‍त छिंदवाडा जिले की एक तहसील उमरेठ है वहा जाते समय हम एक जगह से गुजरे तभी मित्र हरिकिशोर  ने बताया की उस ग्राम मे एक पुराने समय का कुंआ है   मेेरी इच्‍छा हुई की उस कुए को क्‍यो न देखा जाये ओर उसके साथ देखने वहा चला जा रहा था रास्‍ते मे  बच्‍चो से पूछा कि बच्‍चो वह कुआ कह है जिसके  नीचे बहुत साारे कमरे  है उन्‍होने बताया कि वह ग्रा्म के नजदीक है हम धीरे-2 उस कुए के बहुत नजदीक चले गय बहार से देखदर चला गया अंदर ने पर वह कुंआ कचरा धर के समान लग रहा थाा फिर भी मै उस कुए मे उतर गया ओर देखने लगा कि खास बात क्‍या है उस के सामने एक दरवाजा था जिसमे पूर्व की ओर दो दरवाजे थे मै सामने वाले दरवाजे से अंदर जाकर देखा तो दो दरवाजा ओर दिखाई दिया जिस दरवाजे मे से आगे गया था उसके सामने एक ओर दरवाजा था बाजु मे से रोशनी  आ रही थी मै उसी तरफ चला गया ओर आगे जाकर देखा तो सामने एक ओर कुआ था वह बहुत ही गहरा रहा होगा स पर मिटटी भरी पडी थी कहा जाता है कि उस कुए की गहराई मे एक बडा गुप्‍त दरवाजा हे जिसमे से बैल गाडी हाथी ओर कई लोग एक साथ जा सकते है यह द्वार नागपुर तक पहुचता है वहा के लोगो ओर मित्रो के कथन अनुसार ये अंग्रजो के समय निर्मीत हुआ कुआ था जो उनसे बचने के लिए छुपने का रास्‍ता था ओर सेना नागपुर से उमरेठ जाने का रास्‍ता था फिलहाल मे ये रास्‍ता अभी मिटटी के ढह जाने से बंद हो गया है हा अब आते है कंए के पास एक छोटी सी गली रूपी जगह है वहा नागपुर कि तरफ जाती हुई दिखाई दे रही थी उस तरफ से चमगादड निकल रहे थे तो उस तरफ मै नही गया उसकी दूसरी तरफ दीवार दिख रही थी वह भी पक्‍की इटो से बनी है इसके बाद मे धीरे से जो द्वार पहले देखा था उसकी तरफ गया जो बाहर जाने का रास्‍ता इंगित करता है पर मै उस तरफ से नही गया वापस जिस  रास्‍ते से गया था उसी रास्‍ते से वापस आ गया वैसे तो उस स्‍थान पर लोगो का जाना मना है वह कुछ ओर भी तथ्‍य प्राप्‍त होने के आसार है हा ऐसा हाेे सकता है कि अंग्रेजो के युद्व की वजह से वहा के ग्रामीण जनों ने अपनी जमा पूजी को उस कुए के गुप्‍त द्वार पर छिपा दिया होगा ओर फिर स्‍वतंत्रता प्राप्ति तक सब भूल गयेे होगेे या जो जीवीत रहे भी होगे तो वे अत्‍यंत ही बुजुर्ग हो गये होंगे ओर वहा किसी को नही जाने देना चाहते होंगे पुुरानी सोच के अनुसार वह धन किसी के हाथ नही लगना चाहिए ऐसा वहा के ग्रामीण की सोच हो सकता है वहा दोबार जाने की तमनना लिए हम वापस छिंदवाडा के लिए निकल गये हा साम का समय था ठण्‍ड भी लग रही थी अब हम वहा से चल दिए और सीधे छिंदवाडा आकर ही दम लिया **************

भूत का खेल

संसार मे कुछ ऐसा भी हो सकता है जिसके वारे मे इंसान सोच भी नही सकता न ही उसका पूर्व कल्पना कर सकता है ऐसे ही नागपुर मे किराये के कमरे के लिए कुछ लडके व लडकियां ने खोज की वे सभी नागपुर की गलियों मे घूम रहे थे जहा रहकर वे स्टडी कर सके पर उन्हे कही भी मकान नही दिखाइ दिया तभी रास्ते मे पोस्टर लगा दिखाई दिया सभी ने यह पोस्टर लगा दिखाई दिया सभी ने यह देखा और उस ओर चल दिए जिस ओर वह पोस्टर इशारा कर रहा था सभी उस गली की तरफ चले गये वहा एक सूनसन गली दिखाई दी वहा एक मकान वाहर से काफी अच्छी प्रतीत हो रहा थाा सभी निकट पहुचे और आवाज लगाये कि वहा कमरे पर कोई दिखाई नही दिया कमरे मे अंधेरा था फिर भी सभी कमरे मे चले गये एक लडके ने देखा कि वहा पर लाइट का बटन है उसने आन किया तो दरवाजा बंद हो गया तथा बिजली से पूरे कमरे मे रौशनी फैल गई कमरा काफी बडा था उसके बाजु मे एक ओर दरवाजा था ओर सामने तीन विभिन्न धडी के जैसे दिखने वाले नमूने लटके हुए थे वे सभी चमक रहे थे उन्ही को देख रहे थे हम कुल मिलाकर व्यक्ति रहे होंगे दो लडके उस बाजू वाले दरवाजे मे चले गये वे जैसे ही उस दरवाजे मे दाखिल हुए वह बंद हो गया ओर धडी के काटे की तरह टिक- टिक आवाजा आने लगी दोनो कोठरी मे कैद हो गये हा उस कोठरी के उपर रोशनदान था जिसमे से रोशनी आ रही थी अब खेल शुरू हो ही गया था उधर हाल मे तीनो धडी आकार के नमूने चमकने लगी ओर हाल मे एक आवाजा गूजने लगी कि इन तीनो को सवाल समझो ओर जो पहले हल कर लेंगे वे बचकर चले जायेगे बाकी को मरना पडेगा जो दो अंदर फंसे थे उनकी आवाज नही आ रही थी बस हाल मे तीन ही बचे थे मै ओर दो लडकिया वे डर गई थी पर मैने उन्हे समझाया और सवाल हल करने कहा समय आधा मिनट सवाल हल करने के लिए यदि सही उत्तर बता दिया तो दोनो कोठरी वाले वाहर आ जायेगे ओर खेल जारी रहेगा यदि जवाब गलत दिये तो दो मे से एक को मार दिया जायेगा समय शुरू हो गया था तीनो ने सवाल भी सुन लिये थे सवाल था कि दिखाई भी देता हू नही भी दिखाइ देता हॅू अद्रश्य हू छू सकते हो नही भी वर्तमान, भूत भविष्य सभी जगह विघमान हॅू –हमने उत्तर दिया सच्चाई –भूत ने कहा कि ये गलत जवाब हे ओर एक लडके को उसने रोशदान से खीच लिया ओर उस कोठरी मे , मै खुद केद हो गया मेर साथ एक लडका था ओर दोनो लडकियो अभी भी हाल मे ही थी फिर सिल-सिला चला दूसरा सवाल था- मेरी वास्तविकता मै ही जानता हॅ दूसरे जानने की कोशिश मे मारे जाते है विज्ञान भी इसका कुछ नही बिगाड पाया- लडकियो ने पता नही क्या‍ उत्तर दिया मेरे साथ के लडके को फिर उपर ले गये मे अकेला था दोनो लडकियों डरी थी शायद आवाज नही आ रही थी फिर उपर से भूत की परछाई दिखाई दी नीली रंग का लंबा सा मूह वाला लंबी दाडी ऐसा कुछ उसने मुझे कहा कि अब लडकिया अकेले अवाब नही देगी तुम्हे भी अवसर दिया जाना चाहिए ओर कहा जाकर अपनी किस्मत अजमाओं दरवाजा खुल गया दोनो लडकिया डरी थी मे भी डर गया थ कि अब क्या होगा फिर भूत की आवाज उपर से आई तुम्हे तीनों सवालो के जवाब देना है नही तो तीनों को मार दूंगा ऐसा कहा मेने कहा ठीक है मरने तो वाले है ही दोनो से बात किया डरो मत अब हल निकाल लेते है उसने तीसरा सवाल कह दिया – इस समय घडी मे 1-12 तक के अंक है तीन कांटे है कांच भी लगा हुआ है ओर यह दीवार पर टंगी है ओर चालू भी हैै समय भी ठीक बता रही है पर क्या नही है- इस सवाल का उत्तर मुझे पता नही था ना ही किसी को कोई कुछ का कुछ कह रही थी ओर रो रही थी उनको समझाया ओर सवाल के बारे मे सोचने को कहा दोनो लडकिया चुप हो गई मेने तीनो सवालो का जवाब सोचने लगा तभी दिमाग मै आया कि क्याक यह हो सकता है सवालो के उत्तर समय शुरू था 60 सेंकेण्ड का लगभग 30 सेकेण्ड हो गये थे मेने जवाब भी दे दिया जवाब आपको बताना है क्या था उसके बाद मे वाह से उपर अपने आप चला गया भूत एक खूनी गददी पर बैठा था ओर मुझे बधाई भी दिया ओर कहा कि तुमने 6 लाख लोगो को एक साथ जीत लिया है मेने कहा जीत कि 6 लाख लोग उसने हाल की तरफ इशारा किया जहा सभी लोग उस स्थान पर थे जिन्हे मेने जीत लिया इसके बाद वह भूत तीनों आयामों को गायब कर खुद भी गायब हो गया दोबारा मिलेगे कहकर चला गया यह ख्वाबो की सच्चाई है दोस्तो ??
उत्तर क्या है? बताओ?
ANS-AAP HO JANAB KHUD ऐसा कहा मैैने

Read More